Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

भारत तीसरे टेस्ट में जीत की ओर, श्रीलंका पर पारी की हार का खतरा

भारत 487, श्रीलंका 135 और 19/1

कैंडी (ईएमएस)। भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट में जीत से अब नौ विकेट दूर है जबकि अभी तीन दिनों का खेल बाकि है। भारतीय टीम ने दूसरे दिन शानदार खेल दिखाया हार्दिक पंड्या के आतिशी शतक के साथ ही पहली पारी में 487 रन बनाने के बाद भारतीय गेंदबाजों ने लंकाई टीम को पहली पारी में 135 रनों पर समेटने के साथ ही फॉलोआन दिया। फॉलोआन खेलते हुए अपनी दूसरी पारी में लंकाई टीम ने दिन का खेल समाप्त होने के समय तक एक विकेट के नुकसान पर केवल 19 रन बनाये थे। करुनारत्ने 12 और पुष्पकुमारा 0 रन बनाकर क्रीज पर हैं। उपुल थरंगा 7 रन बनाकर उमेश यादव का शिकार बने। इस प्रकार भारत की पहली पारी के स्कोर 487 रनों से अभी भी श्रीलंका की टीम 333 रन दूर है और उसके सिर पर पारी की हार का खतरा मंडरा रहा है। कुलदीप यादव ने श्रीलंका की पहली पारी में 4 और शमी तथा अश्विन को 2-2- विकेट लिए। अब देख्नना होगा मेजबान बल्लेबाज कैसे तीसरे दिन भारतीय गेंदबाजों का सामना करते हैं।
हार्दिक ने लगाया पहला टेस्ट शतक
पहले हार्दिक के आक्रमक पहले टेस्ट शतक के साथ ही भारतीय टीम ने पहली पारी में 487 रनों का विशाल स्कोर बनाया। भारतीय टीम की पहली पारी लंच के बाद 122.3 ओवर में 487 रन बनाकर सिमट गई। हार्दिक 108 रन की तूफानी पारी खेलने के बाद आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए। इसके बाद श्रीलंका की पारी भारतीय गेंदबाजों के शुरू से ही संघर्ष करती रही। पूरी टीम 37.3 ओवर में 135 रन पर सिमट गई। भारत की ओर से चाइनामैन कुलदीप यादव सबसे ज्यादा चार विकेट लीए जबकि तेज गेंदबाज मो शमी व स्पिनर अश्विन ने दो-दो जबकि हार्दिक ने एक विकेट लिया।
श्रीलंका की शुरुआत अच्छी नहीं रही
मेजबान लंकाई टीम की पहली पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही और तीसरे ही ओवर में उसे पहला झटका लगा। तेज गेंदबाज मोहम्‍मद शमी ने उपुल थरंगा को केवल पांच 5 रन पर ही विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। पहला विकेट 14 के स्‍कोर पर गिरा। पारी के पांचवें ओवर में शमी ने करुणारत्‍ने को 4 रनों पर ही आउट कर मेजबान टीम को दूसरा झटका दिया। करुणारत्‍ने के आउट होने की बाद श्रीलंका की उम्मीदें कुसल मेंडिस पर टिकीं थीं पर मेंडिस 18 रन बनाकर रन आउट हो गये। इसके अगले ही ओवर में अनुभवी बल्लेबाज एंजेलो मैथ्‍यूज खाता खोले बिना ही हार्दिक पंड्या की गेंद पर पेवेलियन लौट गये और टीम का पतन शुरु हो गया।
कुलदीप के सामने बेबस दिखे मेजबान
12 ओवर के बाद चाइनामैन कुलदीप यादव को गेंदबाजी पर लाया गया जिन्‍होंने एक-दो बार कप्तान दिनेश चंदीमल को परेशानी में डाला। चायकाल के बाद श्रीलंका टीम ने निरोशन डिकवेला 29 रन, और दिलरुवान परेरा 0 के विकेट गंवाए। ये दोनों ही कुलदीप का शिकार बने। श्रीलंका टीम का सातवां विकेट चंदीमल के रुप में गिरा। चंदीमल 48 रन बनाकर अश्विन की गेंद पर आउट हुए। कुलदीप के सामने लंकाई बल्लेबाज टिक नहीं पाये। उन्‍होंने पुष्‍पकुमार 10 के रूप में अपना तीसरा विकेट लिया। श्रीलंका का 8वां विकेट 125 के स्‍कोर पर गिरा। इसके बाद दस रनों के अंदर बाकि दो विकट भी गिर गये।
इससे पहले मैच के दूसरे दिन भारतीय टीम ने पहले दिन के स्‍कोर 6 विकेट पर 329 रन से आगे खेलना शुरू किया। लाहिरु कुमारा की ओर से फेंके गए पहले ओवर में आठ रन बने। इसके अगले ही ओवर में टीम को ऋद्धिमान साहा (16 रन, 43 गेंद) का विकेट गंवाना पड़ा। साहा को विश्‍व फर्नांडो की गेंद पर परेरा ने कैच किया। दिन के दूसरे ही ओवर में साहा के आउट होने के बाद बल्‍लेबाजी का दारोमदार हार्दिक पर आ गया। इस मौके पर नवोदित कुलदीप ने भी उनका अच्छा साथ दिया। इन दोनों बल्‍लेबाजों ने मजबूती से स्‍कोर बढ़ाना जारी रखा और स्‍कोर को 400 रन के पास पहुंचा दिया। टीम इंडिया का स्‍कोर 400 रन के पार पहुंचा ही था कि कुलदीप यादव (26) स्पिन गेंदबाज संदाकन के शिकार बन गए। बाएं हाथ के बल्‍लेबाज कुलदीप का कैच विकेटकीपर डिकवेला ने लपका। कुलदीप की पारी में दो चौके शामिल रहे। उन्‍होंने आठवें विकेट के लिए हार्दिक के साथ 62 रन की साझेदारी की। आठवां विकेट 401 के स्‍कोर पर गिरा।
कुलदीप के आउट होने के बाद हार्दिक ने संदाकन की गेंद पर छक्‍का और चौका लगाया। अगले ही ओवर में पुष्‍पकुमार की गेंद पर एक रन लेकर उन्‍होंने टेस्‍ट क्रिकेट में अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया। भारत का नौवां विकेट मोहम्‍मद शमी (8 रन, एक चौका)के रूप में संदाकन के खाते में गया। अंत में हार्दिक बेहद आक्रामक हो गए। पुष्‍पकुमार के ओवर में उन्‍होंने तीन छक्‍कों और दो चौकों सहित 26 बना डाले। हार्दिक की इस बल्‍लेबाजी की बदौलत टीम इंडिया का स्‍कोर 450 के पार जा पहुंचा.हार्दिक ने इसके बाद भी जोरदार स्‍ट्रोक खेलते हुए अपना पहला टेस्‍ट शतक पूरा किया। वनडे स्‍टाइल में बैटिंग करते हुए उन्‍होंने इसके लिए सात चौके और सात ही छक्‍के लगाए। लंच के बाद के पहले ही ओवर में हार्दिक (108 रन, 96 गेंद, आठ चौके, सात छक्‍के) की पारी खत्‍म हुई। उन्‍हें स्पिनर संदाकन ने परेरा के हाथों बाउंड्री पर कैच कराया. वहीं श्रीलंका की ओर से लक्षण संदाकन ने सबसे अधिक पांच और पुष्‍पकुमारा ने तीन विकेट लिए।
गिरजा/13अगस्त/6:14

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *