Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

डोकलाम गतिरोध के बीच सेना दो माह पहले करेगी “आपरेशन अलर्ट”

नई दिल्ली (ईएमएस)। डोकलाम सीमा पर भारत-चीन सीमा पर चल रहे तनाव के बीच भारतीय सेना आमतौर पर अक्टूबर में होने वाली एडवांस एक्सरसाइज यानी ऑपरेशन अलर्ट अगस्त में ही करने जा रही है। पिछले डेढ़ माह से सीमा पर चल रहे विवाद को भारत बातचीत के माध्‍यम से सुलझाना चाहता है, लेकिन चीन भारतीय सेना के पीछे हटने के बाद ही सीमा पर से हटने की बात पर अड़ा हुआ है।

इस बीच खबर थी कि चीन ने अपने सैनिकों की संख्या को बढ़ाते हुए सीमा पर 80 टैंट लगा दिए हैं। यह भी कहा गया कि चीन ने भारतीय सेना के सीमा से 250 मीटर पीछे हटने की शर्त पर अपनी सेना के 100 मीटर पीछे हटने की बात कही थी। इन खबरों के बीच खबर यह है कि भारतीय सेना आमतौर पर अक्टूबर में होने वाली एडवांस एक्सरसाइज यानी ऑपरेशन अलर्ट अगस्त में ही करने जा रही है। इस अभ्यास में सेना निचले इलाके से ऊपरी इलाकों पर जाती है। ताकि ऊपरी इलाके के मुश्किल हालात और मौसम के मुताबिक वह खुद को ढाल सके। इस अभ्यास के दौरान सेना करीब 15 हजार फुट की ऊंचाई पर जाती है। फिलहाल भारत और चीन की सेना जहां पर आमने-सामने खड़ी है, वहां की ऊंचाई 10 हजार फीट है।

सेना के अनुसार अभी चीन की ओर से किसी तरह की असामान्य हरकत नजर नहीं आई है। इस सबके बीच सेना अपनी पूरी तैयारियां करने में जुटी हुई है। सेना के इस अभ्‍यास का मकसद हर तरह की चुनौतियों के लिए तैयार रहना है। इसके तहत अगर जरूरत पड़ी तो डोकलाम इलाके में ज्यादा सैनिकों, हथियार और गोला-बारूद आसानी से पहुंचाया जा सकता है। चीनी मीडिया की तरफ से भारत को धमकी मिलने का सिलसिला पिछले काफी समय से जारी है। चीनी मीडिया ने तो यहां तक कह दिया था भारत और चीन के बीच संघर्ष का कांउट डाउन शुरू हो गया है। हालांकि जानकारों का कहनाह कि चीन भारत से किसी भी मामले में सीधा टकराव नहीं चाहेगा। क्योंकि चीन की अर्थव्यवस्था के लिए भारतीय बाजार काफी अहम है।

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *