Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

धनंजय और रोशन की शानदार बल्‍लेबाजी से श्रीलंका ने तीसरा टेस्ट ड्रॉ कराया

श्रृंखला जीतने ही भारत ने आस्ट्रेलिया के रिकार्ड की बराबरी की

नई दिल्ली (ईमएस)। युवा बल्लेबाजों धनंजय डिसिल्वा के शानदार शतक और रोशन सिल्वा के अर्धशतक की सहायता से श्रीलंका ने भारत के खिलाफ यहां खेले गये तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच को आंखिरकार ड्रॉ करा दिया। पांचवे दिन का आकर्षण धनंजय की मैच बचाने वाली पारी रही। रिटायर्ड हर्ट होने से पहले धनंजय ने अपनी टीम को खतरे से निकाल दिया था। इसके अलावा कप्तान दिनेश चांदीमल ने 36 और निरोशन डिकवेला ने नाबाद 44 रन बनाये। मेहमान लंकाई बल्लेबाजों ने आज अपने संघ्रर्षपूर्ण खेल से भले ही अपनी टीम को हार से बचा लिया पर इसके बाद भी भारत ने श्रृंखला 1-0 से जीतने के साथ ही आस्ट्रेलिया के लगातार नौ सीरीज जीतने के विश्व रिकार्ड की बराबरी कर ली।

भारतीय टीम ने नागपुर में हुआ दूसरा टेस्‍ट जीता था जबकि कोलकाता का पहला टेस्ट भी ड्रॉ रहा था।
अभी तक लगातार 9 श्रृंखला जीतने का रिकार्ड कंगारुओं के नाम दर्ज कथा। आस्ट्रेलियाई टीम ने यह कारनामा 2005 से 2008 के बीच किया था। वहीं भारत की जीत का अभियान 2015 में श्रीलंका की धरती से ही शुरु हुआ था जब विराट कोहली की अगुआई में टीम ने 3 मैचों की श्रृंखला 2-1 से जीती थी। उसके बाद जो सिलसिला शुरु हुआ वह अभी तक बरकरार है।

डिसिल्वा ने रिटायर्ड हर्ट होने से पहले 219 गेंद में 15 चौंकों और 1 छक्के की मदद से 119 रन की पारी खेलने के अलावा कप्तान दिनेश चांदीमल (36) के साथ 5वें विकेट के लिए 112 रन भी जोड़े।
पांचवें दिन 410 रनों के जीत के लक्ष्य का पीछा करते हुए खेल जब समाप्‍त घोषित किया गया, उस समय श्रीलंका ने अपनी दूसरी पारी में 103 ओवर में 5 विकेट पर 299 रन बना लिए थे। रोशन सिल्‍वा 74 और निरोशन डिकवेला 44 रन बनाकर नाबाद थे। इन दोनो के बीच छठे विकेट के लिए 99 रन की साझेदारी हुई। इसके बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली जब 7 अनिवार्य ओवर बचे थे तभी मैच ड्रॉ कराने पर राजी हो गए। भारत की ओर से रविंद्र जडेजा ने 59 रन देकर 3 विकेट हासिल किए।

मोहम्मद शमी ने 50 जबकि रविचंद्रन अश्विन ने 126 रन देकर एक-एक विकेट लिया। भारतीय टी के हाथ से मैच निकलने का कारण उसका खराब क्षेत्ररक्षण भी रहा। टीम ने कई कैच छोड़े। इस श्रृंखला में 600 से ज्यादा रन बनाने वाले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को मैच और सीरीज का सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ी घोषित किया गया। पांचवें दिन का पहला ओवर तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने फेंका जिसमें तीन रन बने। भारतीय टीम को आज चौथी सफलता के लिए ज्‍यादा इंतजार नहीं करना पड़ा। लेग स्पिनर रवींद्र जडेजा ने पारी के 22वें ओवर में एंजेलो मैथ्‍यूज (1) को पहले स्लिप में कैच करा दिया। मैथ्‍यूज के आउट होने से श्रीलंका की मैच बचाने की उम्मीदों को करारा झटका लगा।

युवा धनंजय ने एक छोर संभाले रखा और जल्द ही टेस्ट करियर का अपना तीसरा अर्धशतक पूरा किया उनके 50 रन 92 गेंद पर आठ चौकों और एक छक्‍के की मदद से पूरे हुए। इसी दौरान धनंजय ने चंदीमल के साथ पांचवें विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी पूरी की। श्रीलंका टीम के 100 रन 38.4 ओवर में पूरे हुए। पहला सत्र श्रीलंका के लिए इस लिहाज से महत्‍वपूर्ण रहा कि उसने 35 के स्‍कोर पर मैथ्‍यूज के रूप में चौथा विकेट गंवाने के बाद और कोई नुकसान नहीं उठाया। लंच के ठीक पहले जडेजा की गेंद पर दिनेश चंदीमल के खिलाफ जोरदार अपील हुई थी लेकिन नोबॉल के कारण यह मौका हाथ से जाता रहा। लंच के समय श्रीलंका का स्‍कोर चार विकेट पर 119 रन था।

दूसरे सत्र में टीम इंडिया को शीघ्र विकेट की जरूरत थी और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन टीम के लिए यह सफलता लेकर आए। उन्‍होंने पहली पारी में 164 रन की बेहतरीन पारी खेलने वाले श्रीलंका के कप्‍तान दिनेश चंदीमल (36 रन, 90 गेंद, दो चौके) को बोल्‍ड कर दिया। दूसरे छोर से धनंजय डिसिल्‍वा की शानदार बल्‍लेबाजी जारी थी। कठिन हालतों में श्रीलंका के लिए धनंजय ने जुझारू पारी खेली। लंच के बाद उन्‍होंने अपना तीसरा टेस्‍ट शतक पूरा किया। इस दौरान धनंजय ने 188 गेंदों का सामना करते हुए 13 चौके और एक छक्‍का लगाया।

शतक पूरा करने के बाद डिसिल्‍वा को मुश्किल जीवनदान मिला जब रविचंद्रन अश्विन अपनी ही गेंद पर उनका कैच नहीं पकड़ पाये हालांकि धनंजय का यह शॉट बेहद तेज था लेकिन इसकी ऊंचाई ऐसी थी कि यह लपका जा सकता था। श्रीलंका के 200 रन 73.2 ओवर में पूरे हुए। श्रीलंका का स्‍कोर जब 205 रन था तब डिसिल्‍वा ने हर किसी को हैरान करते हुए रिटायर होने का फैसला किया। चाय के समय 81 ओवर में श्रीलंका की दूसरी पारी का स्‍कोर पांच विकेट पर 226 रन था।

चायकाल के बाद रोशन और डिकवेला ने शानदार बल्‍लेबाजी जारी रखी। समय गुजरने के साथ भारत की जीत की उम्‍मीदें खत्म होती जा रही थीं। रोशन ने अपने पहले ही टेस्‍ट में अर्धशतक जमाया। उनके 50 रन 105 गेंद पर 9 चौकों की मदद से पूरे हुए।

 

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *