Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

अंग्रेजी बोलकर दो मिनट में बदमाश चुराते लग्जरी कार 

नई दिल्ली (ईएमएस)। दिल्ली से सटे नोएडा के थाना सेक्टर-39 पुलिस ने कार चोरी के अंतरराज्यीय गिरोह के छह बदमाशों सोमवार शाम एक्सप्रेसवे के नजदीक स्थित हाजीपुर गांव के पास से गिरफ्तार किया है। इनसे चोरी की सात लग्जरी कार बरामद हुई हैं। गिरोह अब तक 1000 से ज्यादा कारें चोरी कर पूर्वोत्तर के राज्य असम और मेघालय आसपास बेच चुका है। गिरोह के सदस्य की (चाबी) प्रोग्रामर के जरिये किसी भी कार को दो मिनट में चोरी कर लेते हैं। कार में लगे जीपीएस को फेल करने के लिए गिरोह जैमर का इस्तेमाल करता है।

पुलिस को अब इस गिरोह के पांच सदस्यों की तलाश की जा रही है। एसएसपी लव कुमार ने कहा कि गिरफ्तार चोरों की पहचान सुरीर मथुरा निवासी सगे भाई रवि उर्फ भूप सिंह (12वीं पास) व विपिन (8वीं पास), जसवंतनगर इटावा निवासी सर्वेश (12वीं पास), बयाना भरतपुर राजस्थान निवासी सुजान (8वीं पास) व लक्ष्मी नारायण (12वीं पास) और मुरैना मध्यप्रदेश निवासी गौरव तोमर (बीटेक) के रूप में हुई है।

गौरव ग्वालियर से बीटेक की पढ़ाई कर रहा था। 2016 में उसने अंतिम वर्ष में पढ़ाई छोड़ दी थी। पुलिस को इनके पास से चोरी की दो क्रेटा, दो होंडा अमेज, दो होंडा सिटी व एक स्विफ्ट वीडीआई कार समेत भारी मात्रा में फर्जी नंबर प्लेट, आरसी, हाईटेक गाड़ियों की चाबी इंटरनेट के जरिये पेयरिंग कराने वाले दो की प्रोग्राम डिवाइस, 15 मोबाइल फोन, गेयर व हैंडल लॉक आदि काटने के लिए एक बड़ा कटर, हथौड़ी, पेचकस व भारी मात्रा में गाड़ियों के लॉक आदि बरामद हुए हैं। बरामद हुई स्विफ्ट वीडीआई कार आगरा में एक शादी में देने के लिए मंडप के पास खड़ी थी।

गिरोह ने मंडप के पास से मात्र 120 किमी चली हुई यह स्विफ्ट कार चोरी कर ली थी। इनके फरार साथियों में बी-62 सेक्टर-47 में किराये पर रहने वाला राज भाटिया, जसवंतनगर इटावा निवासी सुबोध, भरतपुर राजस्थान निवासी मोंटू, शहीदनगर सदर बाजार आगरा निवासी राजू शर्मा उर्फ गोली उर्फ सरकार और उत्तरी लखीमपुर असम निवासी रहमान के रूप में हुई है। राज भाटिया व रहमान मास्टरमाइंड हैं। एसएसपी ने कहा कि ये गिरोह 17 साल से कार चोरी कर रहा है।

प्रतिमाह ये लोग औसत 10-12 कार चोरी कर लेते हैं। एक वर्ष में ये 100 से ज्यादा कार चोरी कर लेते हैं। गिरोह के सदस्यों को भी सही-सही अंदाजा नहीं है कि वह अब तक कितनी गाड़ियां चोरी कर चुके हैं। एसएसपी ने गिरोह को पकड़ने वाली पुलिस टीम के लिए 25 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है।

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *