Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

 ऊंटों पर सवार होकर पश्चिमी सरहद नाप रहीं जांबाज महिलाएं

बीकानेर (ईएमएस)। सीमा की रक्षा का जिम्मा संभाल रही बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) और एयर फोर्स की जांबाज महिला जवान ऊंटों की टोली पर सवार होकर पाकिस्तान से लगी पश्चिमी सरहद नाप रही है।

बाड़मेर से शुरू हुआ वूमन एक्सपिडेशन टोली का यह सफर मंगलवार को बीकानेर तक पहुंचा, जो यहां के लोगों में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नारे की अलख जगाते हुए श्रीगंगानगर सीमा में प्रवेश करेगी। मंगलवार सुबह बीएसफ सेक्टर मुख्यालय से जांबाज महिलाओं की इस टोली का भव्य स्वागत करते हुए उन्हें फ्लेग ऑफ किया गया। सेक्टर मुख्यालय में आयोजित समारोह के बाद ऊंटों पर सवार ये महिला जवान शहर के मुख्य मार्गों से निकलते हुए महाराजा करनी सिंह स्टेडियम तक पहुंचेगी, जहां केमल टेटू प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

बीएसएफ के साथ-साथ भारतीय वायुसेना की जांबाज महिलाओं का यह दस्ता राजस्थान के पिछड़े व दूरस्थ सीमावर्ती इलाकों में महिलाओं के साथ होने वाले भेदभाव को समाप्त करने और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की अलख जगाने के लिए बाड़मेर से बाघा बॉर्डर तक की 1400 किलोमीटर लम्बी यात्रा पर है।

ऊंटों पर महिला जांबाजों का काफिला बीकानेर के राजकीय डूंगर कॉलेज, पंचशती सर्किल, तुलसी सर्किल, अम्बेडकर सर्किल, जूनागढ़ किला रोड़ होते हुए शाम 5 बजे राजकीय डॉ. करणी सिंह स्टेडियम पहुंचेगा, जहां ऊंटों का टैटू शो एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे, जिसमें सभी बीकानेरवासियों को आमंत्रित किया गया है। 20 ऊंटों पर सवार इन महिलाओं के सफर की मंजिल पंजाब की वाघा बॉर्डर है, जहां गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत बीएसएफ के डीजी इनका स्वागत करेंगे।

 

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *