Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

स्पैम कॉल्स की अनदेखी से हो सकता है 26 अरब का फायदा

बेंगलुरु (ईएमएस)। भारतवासी अगर स्पैम कॉल्स नहीं उठाएं तो हर साल हमारा छह करोड़ 30 लाख घंटा बर्बाद होने से बच सकता है। यह बात ऑनलाइन फोनबुक कंपनी ट्रूकॉलर के विश्लेषण में सामने आई है। विश्लेषण रिपोर्ट में बताया गया है मान लीजिए एक स्पैम कॉल 30 सेकंड का ही हो, तो भी भारतीय उपयोगकर्ता इन्हें नजरअंदाज कर करीब छह करोड़ 30 लाख घंटे बचा सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि इस साल किए गए सर्वे से पता चला कि स्पैम कॉल की गिरफ्त में फंसे दुनिया के टॉप 20 देशों की सूची में भारत पहले पायदान पर है। रिपोर्ट कहती है, ‘प्रति ट्रूकॉलर यूजर हर महीने औसतन 22.6 स्पैम कॉल के साथ भारत पहले स्थान पर है। इस लिहाज से अमेरिका और ब्राजील 20.7 कॉल के साथ दूसरे नंबर पर हैं।’ इस विश्लेषाण के तहत आकलन किया गया है कि अगर स्पैम कॉल को ब्लॉक कर उत्पादक कार्यों से अर्जित धन में तब्दील कर दिया जाए, तो भारतीय अर्थव्यवस्था को हर साल 414 मिलियन डॉलर (करीब 2,644 करोड़ रुपये) का फायदा हो सकता है।

काउंटरपॉइंट रिसर्च के असोसिएट डायरेक्टर, ‘आज के डिजिटल युग में किसी व्यक्ति के कॉन्टैक्ट डीटेल्स हासिल करना आसान हो गया है। यूजर्स थर्ड पार्टी ऐप्स को बेसिक डीटेल्स जानने की अनुमति दे देते हैं, जिससे कॉन्टैक्ट्स के बड़े डेटाबेस पर स्पैमर्स की पकड़ हो जाती है।’ उन्होंने कहा, ‘भारत में स्मार्टफोन्स और फीचर फोन्स की संख्या में विस्फोटक वृद्धि का मतलब है कि भविष्य में स्पैम कॉल्स की संख्या और ज्यादा होगी।’

स्वीडन की कंपनी ट्रूकॉलर ने भारत में अभी-अभी फीचर फोन्स में कॉलर आइडी और पेमेंट सर्विस की शुरुआत की है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में स्पैम कॉल की ज्यादातर समस्या टेलिकॉम ऑपरेटरों और फाइनेंशियल सर्विस देनेवालों की वजह से है, जो यूजर्स को कॉल कर फ्री डेटा या अनलिमिटेड कॉल जैसे ऑफर देते रहते हैं। वहीं अमेरिका में यूजर्स को क्रेडिट कार्ड्स और स्टूडेंट लोन लेने या चुकाने आदि से जुड़े कॉल आते रहते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, दक्षिण अफ्रीका, इजरायल और स्वीडन जैसे देशों में स्पैम कॉल्स को नजरअंदाज कर प्रति घंटे क्रमशः 19.2 मिलियन डॉलर (करीब 122 करोड़ रुपये), 13.3 मिलियन डॉलर (करीब 84 करोड़ रुपये) और 12.8 मिलियन डॉलर (करीब 81 करोड़ रुपये) का फायदा हो सकता है।

 

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *