Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

जाने क्यों पड़ जाते हैं हाथ-पैर सुन्न

क्यों होता है इस विकार के होने पर दर्द
नई दिल्ली । शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता को बनाए रखने के लिए विटामिन की अहम भूमिका होती है। शरीर में विटामिन बी 12 की कमी होने पर रक्ताल्पता यानी एनीमिया के साथ शरीर में फॉलिक एसिड का अवशोषण नहीं हो पाता। इसके अलावा इसकी कमी रीढ़ की हड्डी और तंत्रिका तंत्र को प्रमुख रूप से प्रभावित करती है जिससे दिमाग को भी क्षति होती है। इसके लिए जरूरी है कि खानपान में इस तत्त्व से भरपूर चीजें लें। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक प्रोटीन की कमी होने पर विटामिन-बी12 का अवशोषण नहीं हो पाता और शरीर में इस तत्त्व की कमी हो जाती है। आमतौर पर 40 से ज्यादा आयु के लोगों में इस तत्त्व का अवशोषण क्षमता कम होने से कई रोग पनपने लगते हैं। व्यक्ति अकारण थकावट महसूस करने के अलावा हर दूसरे-तीसरे दिन सिरदर्द, आलस, हृदयगति बढ़ने, हाथ-पैरों में झुनझुनी व चक्कर आने जैसी शिकायत करता है। लंबे समय तक किसी रोग के लिए ली जा रही दवाओं से भी विटामिन-बी12 की अवशोषण क्षमता बाधित होने लगती है। विशेषज्ञों के अनुसार स्वस्थ व्यक्तिको रोजाना 2.4 माइक्रोग्राम विटामिन-बी12 की जरूरत होती है। विटामिन बी12 लाल रक्त कोशिकाओं और डीएनए निर्माण के लिए जरूरी है।
इसके अलावा दिमाग व तंत्रिका तंत्र के सुचारू काम करने के अलावा इन्हें स्वस्थ रखकर वसा को ऊर्जा में बदलने और शरीर के सभी हिस्से की नसों को प्रोटीन देने में यह विटामिन मददगार है। जन्मजात विकृतियों और आनुवांशिक बीमारियों से बचाव के लिए गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में इसकी कमी को दूर करना जरूरी है। आमतौर पर यह विटामिन शरीर में नहीं बनता इसलिए इसकी मात्रा डाइट या सप्लीमेंट के जरिए पूरी की जाती है। अंकुरित दालें, दूध व इससे बना दही, पनीर व मक्खन, गाजर, मूली, शलजम, चुकंदर आदि विटामिन- बी12 के बेहतरीन स्त्रोत हैं। नारियल, बादाम और सोयाबीन से निकले दूध से भी इस तत्त्व की पूर्ति की जा सकती है। चिकित्सकों की सलाह पर पूरक आहार लेना चाहिए। पैरों में सूनापन, चक्कर आना, चिड़चिड़ापन, भूख कम लगना, शारीरिक कमजोरी, जल्दी थकना आदि जैसे लक्षण महसूस होने पर सीरम बी12 स्तर का परीक्षण करवाते रहना चाहिए।

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *