Widgetized Section

Go to Admin » Appearance » Widgets » and move Gabfire Widget: Social into that MastheadOverlay zone

प्लानिंग के तहत धोनी ने लिया कप्तानी छोड़ने का फैसला

मुंबई। भारत के सफलतम कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी ने बुधवार को अचानक वनडे और टी-20 टीम की कप्तानी छोड़ दी। उनके इस फैसले के पीछे लंबी प्लानिंग मानी जा रही है। माना जा रहा है कि धोनी 2019 में इंग्लैंड में होने जा रहे वर्ल्ड कप में खेलना चाहते हैं। वह जानते हैं कि यह तभी संभव है, जब तेजी से चमकते टेस्ट कैप्टन विराट कोहली के साथ आगे बढ़ा जाए।

धोनी ने बोर्ड को जो लेटर भेजा है वह भी काफी कुछ कहता है। मोटे तौर पर इसमें कहा गया है कि वह वनडे कप्तानी छोड़ रहे हैं और विराट कोहली के मेंटर के रूप में काम करने को तैयार हैं। दुनिया के सबसे बेहतरीन फिनिशर माही का जादू कुछ फीका पड़ने लगा था। यूएसए में खेले गए टी-20 मैच में ड्वेन ब्रावो ने उन्हें आखिरी ओवर में मैच जिताने से रोक दिया। जिम्बावे के खिलाफ आखिरी ओवर में 8 रन नहीं बना सके। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कानपुर में खेले गए मैच वनडे मैच में वह जीत के लिए जरूरी 11 रन बनाने में असफल रहे थे।

दूसरी तरफ विराट कहोली लगातार चमक रहे हैं। उन्होंने पिछले 16 महीने में भारतीय टेस्ट टीम की अगुआई करते हुए श्रीलंका (2-1), दक्षिण अफ्रीका (3-0), वेस्ट इंडीज (2-0), न्यू जीलैड (3-0) और इंग्लैंड (4-0) के खिलाफ सीरीज जीती। इस दौरान 19 टेस्ट मैच में विराट ने 1600 से अधिक रन बनाए। धोनी की कप्तानी में खेलते हुए वनडे मैचों में भी उनका प्रदर्शन शानदार रहा है। पिछले 15 वनडे में उन्होंने 75 की औसत से 948 रन जुटाए। भारतीय टीम और बाहर के लोग सभी कोहली की ओर तरफ उसी उम्मीद भरी निगाहों से देख रहे हैं, जैसे कभी धोनी की ओर देखा गया था। कोहली पिछले दो सालों से वनडे ‘कैप्टन इन वेटिंग’ रहे हैं। बुधवार को नागपुर में धोनी के साथ सिलेक्शन कमिटी के चीफ एमएसके प्रसाद थे। दोनों झारखंड और गुजरात के बीच रणजी ट्रोफी का मैच देखते हुए बातचीत करते रहे। धोनी झारखंड टीम के मेंटर हैं।

इस्तीफा भेजने के बाद धोनी की बीसीसीआई सीईओ राहुल जोहरी के साथ लंबी बातचीत हुए। समझा जा रहा है कि इस दौरान उन्होंने 2019 वर्ल्ड कप तक टीम के साथ जुड़े रहने की इच्छा जाहिर की। धोनी ने कहा कि वह बदलाव के समय टीम के साथ रहते हुए यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि टीम और विराट कोहली वर्ल्ड कप के लिए पूरी तरह तैयार हो जाएं। वह इस बात की अहमियत को भी स्वीकार करते हैं कि तीनों फॉर्मेट की बागडोर एक ही खिलाड़ी के पास हो। वह मानते हैं कि टीम का केंद्र अब कोहली के आसपास है।

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *